Abhyudaya Yojana प्रतियोगी परीक्षार्थियों को देगी नयी उड़ान, यूपी के 57 जिलों में चल रहे फ्री कोचिंग सेंटर

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले परीक्षार्थियों को अब अपने सपनों  को पूरा करने के लिए बड़े शहरों की ओर पलायन नहीं करना होगा।

उनके सपनों को साकार करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना शुरू की है।

जिसके अंतर्गत प्रतियोगी छात्र-छात्राओं को उनके जिला मुख्यालय पर ही मुफ्त  कोचिंग की सुविधा समाज कल्याण विभाग द्वारा उपलब्ध करायी जा रही है।

उत्तर प्रदेश के समाज कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) असीम अरुण ने  मंगलवार को लोकभवन के मीडिया सेंटर में विभाग की 100 दिन की उपलब्धियों की  जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि समाज कल्याण विभाग की योजनाएं जैसे वृद्धा अवस्था पेंशन,  छात्रवृत्ति आदि योजनाओं में प्रयोगकर्ता के काम को आसान करने के लिए आईटी  सेल का गठन किया गया है।

विभाग का इस बात पर फोकस है कि ऑनलाइन व्यवस्था के माध्यम से  परीक्षार्थियों को उनके घर पर ही उच्चकोटि का टीचिंग मैटेरियल उपलब्ध कराया  जा सके। ताकि समाज के हर वर्ग से छात्र-छात्राएं अपने सपनों को पूरा कर  सकें।

भाग ने पहले 100 दिन के लिए अनुसूचित जाति के 500 मेधावी छात्रों को  संपूर्ण शिक्षण शुल्क, मेस व छात्रावास के खर्च के लिए 30 करोड़ की  व्यवस्था

और छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति योजना के तहत नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ  रिप्यूट की राष्ट्रीय स्तर की 250 व उत्तर प्रदेश की उत्कृष्ट संस्थाओं के  चिन्हीकरण का लक्ष्य तय किया था।