सरकार दे रही है सालाना 36 हजार रुपये की पेंशन

भारत सरकार असंगठित क्षेत्र से जुड़े तबकों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए कई योजनाओं को चला रही है।

इसी कड़ी में आज हम आपको प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के बारे में बताने जा रहे हैं।

इस योजना को खासतौर पर असंगठित क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए बनाया गया है।

इस योजना में ईपीएफओ या ईएसआईसी के सदस्य आवेदन नहीं कर सकते हैं।

देश में श्रमिकों और कामगारों को वृद्धावस्था के दौरान आर्थिक स्तर पर कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

उम्र के इस पड़ाव पर उनके पास आमदनी का कोई स्रोत भी नहीं होता है। ऐसे में  श्रमिकों और कामगारों की इसी समस्या को देखते हुए सरकार ने प्रधानमंत्री  श्रम योगी मानधन योजनी की शुरुआत की है।

देश में बड़े पैमाने पर असंगठित क्षेत्र से जुड़े लोग सरकार की इस योजना में आवेदन कर रहे हैं।

इस स्कीम में 18 से 40 वर्ष के बीच के लोग ही आवेदन कर सकते हैं।

योजना में रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपको इसमें कुछ मात्रा में निवेश करना होगा।

मान लीजिए आपकी उम्र 18 वर्ष है। ऐसे में अगर आप इस स्कीम में आवेदन करते हैं, तो आपको हर महीने 55 रुपये का निवेश करना है।

वहीं 29 साल की उम्र में आवेदन करने वाले लोगों को इसमें हर महीने 100 रुपये का प्रीमियम भरना है।