बालिकाओं को स्वावलम्बी बनायेगी कन्या सुमंगला योजना

बाल विवाह की कुप्रथा को रोकने तथा बालिकाओं के स्वास्थ्य एवं शिक्षा को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से संचालित की गयी है।

इस योजना का लाभ समाज के सभी वर्गो की बालिकाओं को उपलब्ध कराने से  बालिकाओं को स्वावलम्बी बनाने में सहायता मिलेगी तथा बालिका के जन्म के  प्रति समाज में सकारात्मक सोच विकसित होगी।

मुख्य विकास अधिकारी ने जनपद में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के  पात्र लाभार्थियों के चिन्हांकन एवं आनलाइन फीडिंग की समीक्षा की जिसमें  पाया गया कि जनपद में अभी तक चिन्हांकित बालिकाओं की संख्या आबादी के लिहाज  से बहुत कम है

जिस पर शासन द्वारा अभियान चलाकर योजना के पात्र लाभार्थियों चिन्हांकन एवं आनलाइन फीडिंग कराये जाने का निर्देश दिया गया है।

मुख्य विकास अधिकारी जनपद की प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुये उन्होने  निर्देशित किया कि इस योजना का लाभ सभी वांछित लाभार्थियों को उपलब्ध कराया  जाये.....

जिसकी मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा  अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक एवं जिला पंचायत राज अधिकारी अपनी विभागीय  कार्ययोजना बनाकर पात्र लाभार्थियों का चिन्हांकन करें.....

तथा श्रेणीवार उनके आवेदन पत्रों की आनलाइन फीडिंग वेबपोर्टल https://mksy.up.gov.in  पर करना सुनिश्चित करें।

उन्होने जिला प्रोबेशन अधिकारी को निर्देशित किया कि सम्बन्धित अधिकारी से  समन्वय बनाकर मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का व्यापक प्रचार प्रसार  करते हुये प्रगति में सुधार लायें अन्यथा सम्बन्धित के विरूद्ध कड़ी  कार्यवाही की जायेगी।